Archives for;

Hindi Poems and Songs

ए मुसीबत जरा सोच के आन मेरे करीब

 .                        🌷                        🙏        मुसीबत में अगर मदद मांगो              तो सोच कर मागना क्योकि मुसीबत थोड़ी देर की होती है      और एहसान जिंदगी भर का.!!                        🌷                        🙏                        🌷                        🙏           मशवरा तो खूब देते हो                 ‘खुश रहा करो’                   कभी कभी,          वजह भी दे दिया […]

रोज तारीख बदलती है, रोज दिन बदलते हैं

 => रोज   तारीख   बदलती.  है, रोज.  दिन.  बदलते.   हैं…. रोज.  अपनी.  उमर.   भी बदलती.  है….. रोज.  समय.  भी    बदलता. है… हमारे   नजरिये.  भी.  वक्त.  के साथ.  बदलते.  हैं….. बस   एक.  ही.  चीज.  है.  जो नहीं.   बदलती… और  वो  हैं  “हम खुद”…. और  बस   ईसी.  वजह  से  हमें लगता   है.  कि.  अब  “जमाना” बदल   गया.  है…….. […]

हरिवंशराय बच्चन ने अपनी कविताओ में कुछ बहुत ही सूंदर लाइनें लिखी थी

 हरिवंशराय बच्चन ने अपनी कविताओ में कुछ बहुत ही सूंदर लाइनें लिखी थी. हारना तब आवश्यक हो जाता है जब लड़ाई “अपनों” से हो ! और जीतना तब आवश्यक हो जाता है जब लड़ाई “अपने आप ” से हो ! ! मंजिले मिले , ये तो मुकद्दर की बात है हम कोशिश ही न करे […]

पानी से तस्वीर कहा बनती है

 पानी से तस्वीर             कहा बनती है, ख्वाबों से तकदीर             कहा बनती है, किसी भी रिश्ते को             सच्चे दिल से निभाओ, ये जिंदगी फिर             वापस कहा मिलती है कौन किस से             चाहकर दूर होता है, हर कोई अपने             हालातों से मजबूर होता है, हम तो बस             इतना जानते हैं… […]

कर्मों की आवाज़

 “कर्मों की आवाज़       शब्दों से भी ऊँची होती है…! “दूसरों को नसीहत देना       तथा आलोचना करना              सबसे आसान काम है। सबसे मुश्किल काम है         चुप रहना और               आलोचना सुनना…!!” “यह आवश्यक नहीं कि        हर लड़ाई जीती ही जाए। आवश्यक तो यह है कि    हर हार से कुछ सीखा […]

वक़्त अच्छा ज़रूर आता है

 ♻वक़्त अच्छा ज़रूर आता है; मगर वक़्त पर ही आता है! कागज अपनी किस्मत से उड़ता है; लेकिन पतंग अपनी काबिलियतसे! इसलिए किस्मत साथ दे या न दे; काबिलियत जरुर साथ देती है! 🌺♻🌺♻🌺♻🌺♻🌺 दो अक्षर का होता है लक; ढाई अक्षर का होता है भाग्य; तीन अक्षर का होता है नसीब; साढ़े तीन अक्षर […]

जाने क्यूं…

 जाने क्यूं अब शर्म से, चेहरे गुलाब नही होते। जाने क्यूं अब मस्त मौला मिजाज नही होते। पहले बता दिया करते थे, दिल की बातें। जाने क्यूं अब चेहरे, खुली किताब नही होते। सुना है बिन कहे दिल की बात समझ लेते थे। गले लगते ही दोस्त हालात समझ लेते थे। जब ना फेस बुक […]

लाजवाब लाईन

 ♻♻♻♻♻♻♻♻♻        👌 लाजवाब लाईन👌   एक बार इंसान ने कोयल से कहा          “तूं काली ना होती तो            कितनी अच्छी होती”               सागर से कहा:-      “तेरा पानी खारा ना होता तो            कितना अच्छा होता”               गुलाब से कहा:-         “तुझमें काँटे ना होते तो            कितना अच्छा होता”         तब तीनों […]